जानिए कौन से रंग हमें देते हैं ताकत, बुद्धि और सांत्वना

vastu for colour

रंगों की भूमिका हमारे जीवन में अहम है। ये रंगों का ही प्रभाव है जो हमें ताकतवर बनाकर हमें बौद्धिक चेतना से भर देता है और सांत्वना का बोध जगाता है। लेकिन ये सब चीज़ें अलग अलग रंगों से मिलती है। उदाहरण के लिए-हरा,नीला और नीले रंग का शेड लिए हरे रंग में मन को जागृत करने की क्षमता होती है। इन रंगों से हममें शक्ति का संचार होता है। यह रंग पॉज़िटिव सोच के साथ साथ हमें रचनात्मकता से भर देते हैं। इनका प्रयोग उत्तर-पूर्व दिशा के पूर्वी भाग में किया जाए तो यह मन और आत्मा को तरोताज़ा रखते हैं । इसलिए स्कूल और ऑफिस में इन रंगों का इस्तेमाल वास्तुशास्त्र के अनुकूल है।

 

जब भी हम किसी व्यक्ति को बुद्धिमान मानते हैं या उसे बुद्धिमान व्यक्ति के रूप में चिन्हित करते हैं, तो वह व्यक्ति अनोखे तेज से दमकता हुआ और तीक्ष्ण निगाह वाला होता है। यह प्रभाव घर में ग्रे रंग से आता है। जो बिना रौब जमाए हमें इज़्ज़त व सम्मान दिलाता है। ग्रे रंग सौम्य और ख़ुशहाली का रंग भी है। दक्षिण-पश्चिम की पश्चिम दिशा में ग्रे रंग का इस्तेमाल क्रिएटिविटी और ज्ञान को बढ़ाता है,इसलिए क्रिएटिव स्टडीज़, आर्ट गैलरी और लाइब्रेरीज़ आदि में इस रंग का प्रयोग करना उचित है।

 

वो रंग जो तन और मन को तरोताज़ा और खुश रखते हैं,उन रंगों में उन तत्वों के ऐसे शेडस होते हैं जो हमारे क़रीब होते हैं। इस समूह में सबसे पहला रंग, हरा रंग है। इसके बाद मिट्टी जैसे रंग के शेडस आते हैं। जब इन रंगों का इस्तेमाल उत्तर-पूर्व दिशा के उत्तर में किया जाता है, तो ये रंग बीमारियों से बचाकर हमें स्वस्थ रखते हैं।

 

वहीं रंगों में ब्लू कलर और उसके शेडस हममें आत्मविश्वास पैदा करते हैं।यह करियर में बेहद रचनात्मक भूमिका निभाते हैं, विशेषकर जब इनका प्रयोग पश्चिम दिशा में किया जाए।

 

रंगों की इसी सूची में लाल कलर के कुछ शेडस भी शामिल हैं। लाल रंग सेक्स और वासना का रंग भी माना जाता है और इसे सभी रंगों में सबसे अधिक रोमांटिक रंग भी कहा गया है। यदि उत्तर-पश्चिम के उत्तर भाग में स्थित बेडरूम में लाल रंग का थोड़ा सा इस्तेमाल किया जाए,तो यह कपल के रिश्तों को मज़बूत करने में मददगार साबित हो सकता है। गुलाबी, बैंगनी और ऑरेंज रंग के हल्के शेडस भी रोमांटिक रंगों की श्रेणी में आते हैं।

 

रंगों की एनर्जी का उपयोग आसान है,लेकिन रंगों के आपसी रिश्तों को समझना भी ज़रूरी है।रंग आपस में किस तरह रिएक्ट करते हैं और कब पॉजिटिव और नेगेटिव एनर्जी देने लगते हैं, इसे महावास्तु का हर सलाहकार अच्छे से समझता है। आप स्वयं महावास्तु का एक शॉर्ट टर्म कोर्स करके अपनी और अपने रिश्तेदारों की सहायता कर सकते हैं जिसमें महावास्तु अड्वाइज़र आपको अपने घर में रंगों के सक्षम प्रयोग की फ्री सलाह भी देते हैं।

 

महावास्तु सीखें >

 

फ्री महावास्तु सलाह पाएँ >

Share Article

Login with your MahaVastu ID

Left Menu Icon
Right Menu Icon