महावास्तु फॉर फैक्ट्री

अनुभवी महावास्तु आचार्य आपकी फ़ैक्टरी को विज़िट करके इंट्यूशन एवं भूमि नाड़ी से 33 देवताओं एवं 12 असुरों के बल की जाँच करते हैं। देवबल मज़बूत होने से धन-लाभ एवं असुर बल भारी होने से दुःख-हानि घर में होते हैं। इनके बल को प्रभावित करने वाली

  • एक्टिविटी ( आपकी, एम.डी, प्रोडक्शन मैनेजर और सी.ई.ओ.की बैठक, रॉ मटीरियल, प्रोडक्शन प्रोसेस, मशीन ले आउट, क्वालिटी चेक, फ़िनिश गुड, सेल्स, मार्केटिंग, अकाउंट्स, लीगल, आई.टी, पर्चेज, मेंटेनेंस, एच आर, और एडमिन डिपार्टमेंट इत्यादि)
  • उपयोगी सामान (पैकेजिंग मटीरियल, कूलिंग टावर, चिमनी, बॉयलर,  हीटर, जेनरेटर, इन्वर्टर, बोरिंग, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग, रिसायकलिंग यूनिट, कम्प्यूटर, कैमरा, इत्यादि) 
  • इंटीरियर डेकोरेशन का सामान (फूलदान, पौधे, वॉल आर्ट, डिस्क्लेमर, पेंटिंग, सकल्पचर, देवी-देवताओं की मूर्तियाँ, इत्यादि ) का ऑडिट करते हैं।

जाँच करते हैं कि इनका प्रभाव आपके प्रोडक्शन, क्वालिटी, सेल्स व ऑर्डर्स, पैसे के प्रवाह, बैंकिंग सपोर्ट, डिपार्टमेंटल इश्यूज, लिटिगेशन, लेबर इश्यूज, सेफ़्टी-सिक्योरिटी, ग्राहक के साथ सम्बन्धों और समृद्धि पर क्या हो रहा है? इनके नकारात्मक प्रभाव को दूर करने के लिए इन्हें सही दिशा में रीलोकेट करके या फिर सरल महावास्तु उपायों के द्वारा इन प्रभावों को ठीक करते हैं।

आपकी फ़ैक्टरी पर महावास्तु कैसे होगा  ?

  • महावास्तु प्रमाणित सर्वेयर आपकी फ़ैक्टरी और मशीनों को मापकर सही नक़्शा बनाएंगे, उसमें उपरोक्त सभी एक्टिविटी, उपयोगी सामान और इंटीरियर डेकोरेशन के सामान की दिशा एवं स्थान को अपने सर्वे में मार्क करेंगे।
  • महावास्तु एक्सपर्ट द्वारा इन सर्वे किए नक़्शों पर सात प्रकार का ऑडिट होगा ।
  • नकारात्मक प्रभाव के रूप में पैदा समस्याओं को आपसे डिस्कस करके एक्सपर्ट कन्फ़र्म करते हैं। फिर लेवलवाइज उनके उपाय करते हैं।

लेवल 1 – प्रवेश द्वार, टॉयलेट, सीवेज, दिशा बल, रोड़ हिट इत्यादि का उपचार करते हुए पंच तत्वों को संतुलित करते हैं ।

लेवल 2 – एक्टिविटी और उपयोगी सामान को रिलोकेट करके या महावास्तु की तकनीक द्वारा उसे ठीक करते हैं। 

लेवल 3 – इंटीयर डेकोरेशन के सामान को रिलोकेट करके या महावास्तु की तकनीक द्वारा उसे ठीक ठीक करते हैं। 

लेवल 4 – पर कार्य स्थान की ऊर्जा को आपकी जन्मपत्री के ग्रहों के आधार पर ब्रह्मांडीय ऊर्जा के साथ लयबद्ध करते हैं । 

लेवल 5 – मर्म बिंदुओं के आधार पर उपचार करते हैं।

लेवल 6 –  इंट्यूटिव देवता डायग्नोसिस के आधार पर कर्म सिद्धि  के लिए देवताओं को सशक्त करने के उपाय करते हैं।

पांच तत्वों पर आधारित गतिविधिया उपकरणों एवं साजसज्जा की की दिशाओ का ऑडिट करवा कर दिशाओ के ऑडिट पर आधारित बिना

पांच तत्वों पर आधारित गतिविधिया उपकरणों एवं साजसज्जा की की दिशाओ का ऑडिट करवा कर दिशाओ के ऑडिट पर आधारित बिना

पांच तत्वों पर आधारित गतिविधिया उपकरणों एवं साजसज्जा की की दिशाओ का ऑडिट करवा कर दिशाओ के ऑडिट पर आधारित बिना

Login with your MahaVastu ID

Left Menu Icon
Right Menu Icon